शान्ति शक्ति सरोवर,भगवानपुर (वैशाली)12-12-2018

शान्ति शक्ति सरोवर,भगवानपुर (वैशाली)12-12-2018, प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के नव निर्माणाधीन परिसर शान्ति शक्ति सरोवर में “योग द्वारा स्वस्थ जीवन” कार्यक्रम आयोजित किया गया।जिसमें बिहार योग विद्यालय,मुंगेर के प्रख्यात योगाचार्य स्वामी सत्यबिन्दु सरस्वती (निदेशक,उत्कल योग संस्थान,सम्बलपुर एवं योग विशेषज्ञ एवं योग प्रशिक्षक,जिन्दल ग्रुप ऑफ़ कम्पनीज) ने रोचकता पूर्वक सभी को कुर्सी पर बैठे-बैठे योगा कराया।स्वस्थ एवं सफल जीवन के लिए उन्होंने नियमित 20 मिनट योगा करना अनिवार्य बताया।
अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा-जैसे धन का व्यय एवं अपव्यय होता है,उसी प्रकार समय का भी दुरुपयोग एवं सदुपयोग होता है।हमारा समय मानव कल्याण की सेवा में व्यतीत होना – ये हम सबका पदम गुणा सौभाग्य है।
एक बार किसी ने आदिगुरु शंकराचार्य जी से पूछा- सम्पत्ति एवं विपत्ति में क्या अन्तर है? महाराज ने उत्तर दिया – सम्पद: एव सम्पत्ति अर्थात सम्पदा है माना सम्पत्ति है।विपत्ति अर्थात जिस घड़ी मेरा मन परमात्मा से विरक्त हो गया माना अलग हो गया,वह विपत्ति है।
स्वागत लोकप्रिय साहित्यकार डा. संजय पंकज ने किया।बिहार सेवाकेन्द्रों की जोनल इंचार्ज राजयोगिनी बी के रानी दीदी ने शुभाशीष देते हुए कहा – स्वस्थ एवं सुख – शान्तिमय जीवन के लिए चार स्तम्भ हैं – 1- ब्रह्मचर्य,2 – शुद्ध भोजन,3 – सत्संग,4 – दैवी गुण युक्त कर्म।
धन्यवाद ज्ञापन बी के प्रफुल्ल भाई ने किया।इस अवसर पर समाजसेवी एवं उद्योगपति भारत भूषण बंसल,श्याम सपरा,सुभाष सपरा,पप्पू अग्रवाल,बी के महेश,बी के डा. फनीश चन्द्र,बी के भास्कर,बी के सीता,बी के बबिता एवं अन्य भाई-बहनों ने स्वस्थ जीवन के लिए योगा की विधि सीखी।

Shivratri Celebration

Governor visit to Sukh Shanti Bhawan,

muz8